साइकिल का आविष्कार किसने किया और कब किया

दोस्तों क्या आप जानते हैं की साइकिल का अविष्कार किसने किया था और कब किया था। शायद आप में से ज्यादातर लोगो का जवाब नहीं ही होगा। क्योकि इसीलिए तो आपने इसके बारे में जानने के लिए गूगल पर सर्च किया और आप हमारी इस पोस्ट तक आये हैं।

अगर आप भी साइकिल का इतिहास सम्बंधित जानकरी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप बिलकुल सही पोस्ट पढ़ रहे हैं क्योकि इस पोस्ट में हम आपको साइकिल के अविष्कार से लेकर इसकी पूरी हिस्ट्री की कहानी आपको बताने वाले हैं।

तो चलिए शुरू करते हैं बिना किसी देरी के, पोस्ट को पूरी अंत तक ध्यान पूर्वक पढ़े, जिससे बाई साइकिल के बारे में बताई जानकारी आपको अच्छी लगे।

साइकिल का अविष्कार किसने किया

साइकिल का अविष्कार कार्ल वाॅन ड्रैस (Karl von drais) द्वारा सन 1817 में किया गया था जो की जर्मन में एक वन अधिकारी थे। कार्ल वॉन ड्रैस को यूरोप में बाइडर्मियर काल का एक प्रसिद आविष्कारक माना जाता हैं। इनके नाम साइकिल के अलावा और भी अविष्कार हैं।

इन्होने बहुत से और भी अविष्कार किये जैसे सबसे पहले कीबोर्ड टाइपराइटर के अविष्कार का श्रेय भी इन्हे ही जाता हैं जिसका अविष्कार 1821 में किया गया था। इसके अलावा इन्होने 1812 में कागज पर पियानो संगीत रिकॉर्ड करने वाले उपकरण की भी खोज की थी।

साथ ही साथ 16 अक्षरों वाली स्टेनोग्राफी मशीन का अविष्कार भी इनके ही नाम हैं जिसका अविष्कार इन्होने 1827 में किया था और इसके अलावा इन्होने मीट ग्राइंडर यानि की कीमा बनाने की मशीन का अविष्कार भी किया था। इस प्रकार कार्ल वॉन ड्रैस द्वारा साइकिल के अलावा भी बहुत से अविष्कार किये गए।

साइकिल का आविष्कार कैसे हुआ(साइकिल की हिस्ट्री)

दोस्तों हर अविष्कार के पीछे कोई न कोई कारण होता हैं। अगर बात करे साइकिल का अविष्कार कैसे हुआ तो आपको बता दे सन 1815 में इंडोनेशिया स्थित टेम्बोरा ज्वालामूखी में बहुत बड़ा विस्फोट हुआ जिससे उत्तरी गोलार्ध के देशो में काफी प्रभाव पड़ा।

फसले सारी नष्ट हो गयी और दुनियाभर के देशो में तापमान में गिरावट आ गयी। उस समय अधिकतर लोग अपना जीवन यापन खेती के बलबूते पर करते थे लेकिन इस विस्फोट से उनकी सारी फसले ख़तम हो चुकी थी जिससे बहुत से पालतू जानवरो की भी भूख से मृत्यु होने लगी।

चुकी पहले जानवरो का इस्तेमाल सामान ढोने में किया जाता था तो अब इस काम के लिए जानवरो की कमी हो गयी और ऐसे भी इसी समस्या से निपटने के लिए 1817 में साइकिल का अविष्कार हुआ।

शुरुआत में जो साइकिल बनाई गयी थी वह केवल लकड़ियों से बनाई गयी थी जिसमे साइकिल के मार्गदर्शन हेतु एक हैंडल होता था उसके अलावा इसमें कोई भी पेडल या गियर नहीं होता था। इसे धका देकर चलाया जाता था।

उसके बाद सन 1863 में पहली वर्तमान साइकिल या पेडल वाली साइकिल का अविष्कार किया गया जिसे फ्रांस के एक मेकेनिक Pierre Lallement द्वारा बनाई गयी। इन्होने साइकिल के अगले पहिये में पेडल लगाया था।

साइकिल का आविष्कारक कौन है - साइकिल का आविष्कारक एक जर्मन वन अधिकारी  कार्ल वॉन ड्रैस है। 

सन 1895 में ओग्डेन बोल्टन नाम के एक वैज्ञानिक द्वारा पहली इलेक्ट्रिक साइकिल का अविष्कार किया गया था। इससे पहले इलेक्ट्रिक साधन नहीं थे केवल साधारण साइकिल का इस्तेमाल ही किया जाता था।

भारत में साइकिल का आविष्कार कब हुआ

अब अगर बात करे की भारत में साइकिल कब आई तो आपको बता दे भारत में साइकिल का निर्माण 1942 में एक हिन्द साइकिल नाम की कंपनी द्वारा शुरू किया गया था। इससे पहले भारत में कोई साइकिल नहीं बनाई जाती थी।

इससे पहले भारत में दूसरे देशो से साइकिल को इम्पोर्ट किया जाता था। लेकिन मुंबई स्थित हिन्द साइकिल कंपनी के द्वारा साइकिल का निर्माण शुरू करने के बाद लोग स्वदेशी साइकिल का ज्यादा इस्तेमाल करने लगे। वर्तमान में चीन के बाद भारत में ही सबसे ज्यादा साइकिल बनाई जाती हैं।

साइकिल से सम्बंधित कुछ इंटरेस्टिंग जानकारी

आशा करते हैं आपको पोस्ट में बताई अब तक की जानकारी पसंद आयी होगी और आगे हम आपको साइकिल से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण और इंटरेस्टिंग जानकारी देने वाले हैं जो निचे बताई गई हैं।

  • ब्रिटिश आविष्कारक जेम्स स्टारली को साइकिल व्यवसाय का पितामह कहां जाता है क्योकि इन्होने साइकिल के डिज़ाइन और अलग-अलग भागो में बदलाव करके बड़े स्तर पर साइकिल का निर्माण किया था।
  • वर्तमान में हम जो साइकिल का डिज़ाइन देखते हैं उसका श्रेय जेम्स स्टारली के भतीजे जॉन केम्प स्टारली को जाता हैं क्योकि उन्होंने ही पहली बार वर्तमान साइकिल डिज़ाइन का अविष्कार किया था।
  • आज भी नीदरलैंड के लोगो द्वारा छोटी-छोटी दुरी की यात्रा के लिए केवल साइकिल का इस्तेमाल किया जाता है।
  • नीदरलैंड में आज भी 15 साल से ऊपर के 8 में से 7 लोगो के पास साइकिल है।
  • चीन में सबसे ज्यादा साइकिल निर्माण का कार्य किया जाता है।
  • चीन के बाद दूसरे नंबर पर भारत में सबसे ज्यादा साइकिल का निर्माण होता है।
  • दुनिया की सबसे लम्बी साइकिल जिस पर 35 लोग बैठ सकते हैं उसकी लम्बाई 20 मीटर है।
  • भारत में साइकिल का आयात अंग्रजो द्वारा इंग्लैंड से किया जाता था।
  • सन 1869 में फ्रांस के पेरिस में पहला साइकिल रेस हुआ था।
  • इस साइकिल रेस के विजेता विश्व प्रसिद साइकिलिस्ट James Moore थे।

तो दोस्तों यह थी साइकिल से सम्बंधित इंटरेस्टिंग जानकारी जो आपको जरूर पसंद आयी होगी। दोस्तों साइकिल परिवहन साधनो का सबसे सस्ता और अच्छा साधन माना जाता है क्योकि साइकिल में हमें पेट्रोल और ईंधन की खपत नहीं होती हैं।

इसके साथ ही साथ साइकिल चलाने से हमारा शरीर भी स्वस्थ और फिट रहता हैं। क्या आप भी साइकिल चलाना पसंद करते हैं? हमे कमेंट करके जरूर बताये।

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल साइकिल का अविष्कार किसने किया पसंद आया हैं तो इस जानकारी को ज्यादा से ज्यादा दोस्तों के साथ अपने सोशल प्लेटफार्म के माध्यम से शेयर करे ताकि उन्हें भी इसकी जानकारी मिल सके।

नमस्कार, दोस्तों मैं Techgyanhindi.com पर Content लिखता हूँ। आपको हमारा Content पसंद आ रहा हो तो Comment करके जरूर बताएं।

Leave a Comment