DNA की खोज किसने की और कब की पूरी जानकारी

दोस्तों इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले है DNA की खोज किसने की और DNA से सम्बन्धित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी विस्तार से।

DNA की खोज जीव विज्ञान के क्षेत्र में बहुत ही बड़ी और महत्वपूर्ण खोज मानी गयी है। क्योकि यह मनुष्य के आने वाली पीढ़ियों में गुणों को निश्चित करता है।

हमारी पृथ्वी पर मौजूद हर जीवित कोशिका में DNA पाया जाता है। अगर आपको अभी तक नहीं पता की DNA क्या होता है और DNA की खोज किसने और कब की थी।

तो इस पोस्ट को अंत तक ध्यानपूर्वक पूरा जरूर पढ़े क्योकि इस पोस्ट में हम DNA की खोज सम्बंधित पूरी जानकारी विस्तार से देने वाले है।

DNA क्या है (What is DNA in Hindi)

DNA की खोज किसने की

अगर बात करे DNA की परिभाषा की तो आपको बता दे जीवित कोशिकाओं के गुणसूत्रों में पाए जाने वाले तंतुनुमा अणु को ही डी-आक्सी राइबोज़ न्यूक्लिक अम्ल यानि की DNA कहते है।

DNA अणु की संरचना घुमावदार और सर्पिलाकार सीढ़ियों की तरह होती है। इसमें Genetic Code (आनुवंशिक कूट) निबद्ध रहता है।

DNA का एक अणु चार प्रकार की अलग-अलग घटकों से मिलकर बना होता है जिसे Nucleotide कहते है। हर Nucleotide अणु नाइट्रोजन युक्त होता है और इसमें पाए जाने वाले चारों घटक निम्न है।

  1. Adenine – इसे A से प्रदर्शित करते है।
  2. Thymine – इसे T से प्रदर्शित करते है।
  3. Guanine – इसे G से प्रदर्शित किया जाता है।
  4. Cytosine – इसे C द्वारा प्रदर्शित किया जाता है।
DNA का Full Form क्या है - DNA का फुल फॉर्म Deoxyri bonucleic Acid होता है। 

दोस्तों वैसे तो DNA के बारे में बहुत सी विस्तृत जानकारी है लेकिन यहाँ हमने आपको DNA से सम्बंधित कुछ सामान्य जानकारी दी है और आशा है यह जानकारी आपको जरूर पसंद आयी होगी। चलिए अब जानते है DNA के खोजकर्ता कौन है?

DNA की खोज किसने की

अगर बात करे सबसे पहले डीएनए की खीज किसने की तो आपको बता दे DNA को पहली बार सन 1869 में Johann Friedrich Miescher ने खोजा था यानि की पहला अवलोकन Johann Friedrich Miescher ने किया था।

लेकिन DNA का रूपचित्र या मॉडल James Watson और Francis Cricks द्वारा सन 1951 में दिया गया और इस खोज के लिए उन्हें 1962 में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया।

इस प्रकार DNA की खोज का सिलसिला काफी समय पहले से ही शुरू हो गया था लेकिन इसकी संरचना और मॉडल को सही तरीके से प्रदर्शित करने का काम 1951 में Watson और Cricks द्वारा किया गया।

James Watson और Francis Cricks ने बताया की DNA की सरंचना द्वि-कुण्डलीय सीढ़ीनुमा होती है। DNA न्यूक्लिएस के केन्द्रक में पाया जाता है और इसके अलावा यह Mitochondria में और Chloroplast में पाया जाता है।

DNA फिंगरप्रिंटिंग की खोज किसने की?

DNA फिंगरप्रिंट की खोज सर एलेक जेफरीस द्वारा की गयी। सितम्बर 1984 में सर जेफ़रीस द्वारा अपने प्रयोगशाला में DNA फिंगरप्रिंट की खोज की गयी।

DNA Test क्या होता है?

दोस्तों आपने कई बार किसी News में या Movies में DNA Test के बारे में जरूर सुना हुआ होगा लेकिन क्या आपको पता है असल में यह होता क्या है?

असल में DNA Test एक ऐसी प्रक्रिया होती है जिसकी मदद से किसी भी व्यक्ति की Genetic (आनुवंशिक) जानकारी प्राप्त करने के लिए किया जाता है।

DNA Test के जरिये किसी भी व्यक्ति की पहचान की जा सकती है। किसी भी व्यक्ति के DNA की मदद से उसके परिवार का पता लगाया जा सकता है उसके माता पिता का पता लगाया जा सकता है।

इसके अलावा DNA Test के पीछे और भी कई सारे कारण हो सकते है जैसे कानून, विरासत, हत्या, बलात्कार, बाल सहायता, बाल हिरासत, फॉरेंसिक मुद्दे, अप्रवास आदि।

DNA से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • DNA का केवल 1 ग्राम 700 Terabyte तक की जानकारी स्टोर कर सकता है।
  • यह हमारे शरीर के हर कोशिका में होता है।
  • DNA कोशिका में मात्रा 0.09 माइक्रोमीटर का स्थान घेरता है।
  • लेकिन अगर DNA को किसी एक दिशा में फैलाया जाये तो यह 1.8 मीटर तक लम्बा होता है।
  • DNA के परिक्षण के लिए मुख्यतः खून, मूत्र या गाल की कोशिका का इस्तेमाल किया जाता है।
  • DNA किसी भी जीवित कोशिका में पाया जाने वाला गुणसूत्र होता है।
  • किसी भी व्यक्ति का और उसके बच्चो का DNA लगभग 99.5% समान होता है।
  • आपको बता दे DNA एक स्थायी घटक होता है और उम्र के साथ इसमें कोई बदलाव नहीं आता है।
  • Monogenic Twins का DNA 100% Same होता है। इनका जन्म एक ही भ्रूण के विभाजन से होता है।

FAQs

सबसे पहले DNA की खोज किसने और कब की थी?

सबसे पहले DNA की खोज सं 1869 में Johann Friedrich Miescher ने की थी।

DNA का पूरा नाम क्या होता है?

DNA का पूरा नाम Deoxyribonucleic Acid (डी-आक्सी राइबोज़ न्यूक्लिक अम्ल) होता है।

Conclusion –

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट DNA की खोज किसने की और कब की जरूर पसंद आयी होगी और इस पोस्ट में साझा की गयी जानकारी आपके लिए उपयोगी रही होगी।

अगर आपको हमारी इस पोस्ट से सम्बंधित कोई भी Doubts है तो हमे कमेंट करके जरूर बताये और पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।

Related Articles:-

पोस्ट को शेयर करें

Lucky, Techgyanhindi.com के Content Writer हैं। इन्हें लोगों को नयी नयी जानकारी पहुँचाने में बहुत ख़ुशी मिलती है। वहीँ ये ऐसे content लिखना पसंद करते हैं जिन्हें की लोग पसदं करें और वो उनके लिए उपयोगी हो।

Leave a Comment