No Cost EMI क्या हैं और इसके क्या फायदे हैं

नमस्कार दोस्तों आज की पोस्ट में हम No Cost EMI क्या हैं और No Cost EMI के फायदे जानने वाले हैं। ऑनलाइन या ऑफलाइन किसी Product को खरीदते वक्त आपने भी No Cost EMI के बारे में जरूर सुना होगा लेकिन क्या आपको इसके बारे में विस्तार से जानकारी हैं।

की आखिर No Cost EMI क्या होता हैं और No Cost EMI कैसे काम करता हैं तथा No Cost EMI के क्या फायदे हैं क्योंकि किसी भी जगह इन्वेस्टमेंट करने से पहले उनके बारे में जानकारी होना जरुरी हैं जिससे हमारा फाइनेंसियल नुक्सान ना हो।

आजकल Amazon और Flipkart जैसी E-Commerce कंपनियों पर हमें अधिकतर Product पर नो कॉस्ट इ एम आई देखने को मिल जाती हैं लेकिन इस तरीके से किसी भी प्रोडक्ट को खरीदने से पहले कुछ सामान्य जानकारी होना जरुरी हैं।

क्योंकि हर बार आपको No Cost EMI पर फायदा मिले यह जरुरी नहीं हैं, इसलिए इसके बारे में विस्तार से अच्छे से समझने के लिए हमारे इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े।

No Cost EMI क्या हैं

No Cost EMI का मतलब होता हैं जब भी आप कुछ Product EMI पर खरीदते हैं तो उसमें आपको किसी भी प्रकार का ब्याज या Processing Fees नहीं लगती हैं जबकि साधारण ई एम आई के तहत आपको Product की Price के साथ ही Intrest तथा Processing फीस देनी पड़ती हैं।

जैसे मान लीजिये आप कोई 50,000 रुपये का Product EMI पर खरीदते हैं तो इसे 5000 रुपये की आसान 10 किश्तों में चूका सकते हैं इसमें आपको 1 रुपया भी ज्यादा देने की जरुरत नहीं हैं। जो Product की Price हैं आपको वही Pay करना पड़ेगा।

लेकिन आपको Monthly EMI कम ज्यादा करने का ऑप्शन मिल जाता हैं। जैसे 50,000 के Product की EMI को 10,000 की 5 किश्त या 2500 की 20 किश्त के रूप में जमा कर सकते हैं। अब आपको समझ में आ गया होगा की आखिर No Cost EMI कैसे काम करती हैं।

वहीँ अगर आप Normal EMI पर कोई Product लेते हैं तो आपको 50,000 के Product पर 5 से 7 हजार रुपये ज्यादा देने पड़ेंगे जो की ब्याज और Processing Fees होती हैं और इन्हें आपकी Monthly EMI के अंदर ही जोड़ा जाता हैं।

No Cost EMI के क्या फायदे हैं

No Cost EMI में Customer का तो फायदा होता ही हैं पर E-Commerce कंपनियां तथा Credit Card कंपनियों का भी फायदा होता हैं क्योंकि किसी भी Product को EMI पर खरीदने के लिए हमारे पास Credit Card होना जरुरी हैं। और कस्टमर को मुख्य रूप से दो फायदे होते हैं

पहला उस प्रोडक्ट का सारा Amount एक साथ Pay नहीं करना पड़ता हैं और दूसरा किसी भी प्रकार का ब्याज और Processing Fees नहीं देना पड़ती हैं। जिससे Customer अगर किसी प्रोडक्ट को Cash में Afford नहीं कर सकता हैं तो उसे EMI पर खरीद सकता हैं।

वहीँ अगर ई-कॉमर्स कंपनियों के फायदे की बात करें तो ये कंपनियां अधिकतर उसी प्रोडक्ट पर नो कॉस्ट ई एम आई का ऑफर देती हैं जो काफी महँगे होते हैं या फिर जिनकी बिक्री कम होती हैं। जिसपर No Cost EMI का ऑफर देखकर कस्टमर अट्रैक्ट होकर उन्हें खरीद लेते हैं।

क्या No Cost EMI पर Product खरीदना चाहिए

अब बात आती हैं की आखिर क्या हमें No Cost EMI पर किसी भी Product को खरीदना चाहिए जिससे हमें फायदा हो तो हाँ आप Product को नो कॉस्ट ई एम आई पर खरीद सकते हैं लेकिन इससे पहले आपको कुछ महत्वपूर्ण चीजों की जानकारी होना जरुरी हैं।

क्योंकि कई बार कंपनियां EMI पर लगने वाले ब्याज और Processing Fees को भी Product की Price में जोड़ देती हैं इसके बाद उस प्रोडक्ट को नो कॉस्ट ई एम आई पर बेचती हैं या फिर कई बार किसी Product पर Discont होने पर उसे NO Cost EMI के जरिये बेचने पर उस पर Discount नहीं दिया जाता हैं।

इसलिए किसी भी Website या Store से किसी भी प्रोडक्ट को No Cost EMI पर खरीदने से पहले उस Product की अलग-अलग जगह पर Price पता कर लें और जिस तरीके में आपका फायदा हो उसी तरीके से उस वस्तु को खरीदें।

और किसी भी Product को अपनी जरुरत के हिसाब से खरीदें No Cost EMI का ऑफर देखकर उसकी तरफ अट्रैक्ट ना होवे क्योंकि कोई भी कंपनी अपना Loss करके किसी भी प्रोडक्ट को नहीं बेचती हैं।

FAQs

नो कॉस्ट ईएमआई का क्या मतलब होता है?

नो कॉस्ट ईएमआई का मतलब जब आप किसी प्रोडक्ट को ई एम आई पर खरीदते हैं तो उस पर आपको किसी भी प्रकार का ब्याज या Processing Fees नहीं देनी पड़ती हैं। Product की जो प्राइस हैं उसे हम EMI में बिना किसी एक्स्ट्रा चार्ज के Pay कर सकते हैं।

नो कॉस्ट ईएमआई में क्या फायदा है?

नो कॉस्ट ईएमआई के अंतर्गत आप बिना किसी ब्याज और प्रोसेसिंग फीस के प्रोडक्ट को EMI पर ले सकते हैं।

नो कॉस्ट ईएमआई पर ब्याज लगता है?

नहीं, नो कॉस्ट ईएमआई पर किसी भी प्रकार का कोई ब्याज नहीं लगता हैं।

ईएमआई और नो कॉस्ट ईएमआई में क्या अंतर है?

जब आप किसी प्रोडक्ट को नॉर्मल ईएमआई पर लेते हैं तो उसमें आपको प्रोडक्ट की प्राइस के अलावा ब्याज और प्रोसेसिंग फीस का चार्ज एक्स्ट्रा लगता हैं जबकि नो कॉस्ट ईएमआई के अंतर्गत आपको सिर्फ प्रोडक्ट की प्राइस ही देनी होती हैं यहाँ पर आपको ब्याज और प्रोसेसिंग फीस का चार्ज नहीं लगता हैं।

EMI का Full Form क्या होता हैं?

EMI का Full Form Equated Monthly Instalment होता हैं।

Conclusion

दोस्तों उम्मीद करता हूँ No Cost EMI क्या हैं और No Cost EMI के क्या फायदे हैं तथा किसी भी प्रोडक्ट को No Cost EMI पर खरीदने से पहले किन बातों को ध्यान में रखना चाहिए सभी के बारे में विस्तार से समझ में आ गया होगा।

अगर आपके पास Credit Card हैं और आप EMI पर Product खरीदने के शौक़ीन हैं तो यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण हैं क्योंकि कई बार कम्पनियाँ No Cost EMI का Offer दिखाकर ग्राहक को अपनी और आकर्षित करती हैं जबकि वे अपना प्रॉफिट पहले से प्रोडक्ट में जोड़ चुकी होती हैं।

दोस्तों जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें जिससे वे भी NO Cost EMI का मतलब अच्छे से समझ सके।

Read More Articles:-
किसी भी बैंक का Bank Account Number कैसे पता करें
RTGS क्या हैं और कैसे काम करता हैं
ऑनलाइन IFSC Code कैसे पता करें ऑनलाइन
Finance क्या हैं विस्तार से जानें
PhonePe से पैसे कैसे Transfer करें ऑनलाइन
पोस्ट को शेयर करें

मेरा नाम Ram Gadri है। मैं इस Blog का Founder और Content writer हूँ। हमारा इस Blog को बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषी लोगों को इंटरनेट से जुड़ी जानकारी प्रदान करवाना है। यहाँ आपको शिक्षा, तकनिकी, कंप्यूटर और मेक मनी से जुड़ी हर तरह की जानकारी अपनी मातृ भाषा में मिलने वाली है।

Leave a Comment