NRI क्या होता है और NRI का फुल फॉर्म क्या है ~ 2021

क्या आपको पता है NRI क्या होता है? अगर नहीं तो इस पोस्ट में हम जानेंगे की NRI का फुल फॉर्म क्या है और NRI के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से।

दोस्तों आपने भी कई बार मूवीज में या और कही पर कई बार NRI शब्द के बारे में सुना हुआ होगा लेकिन हमे इससे सम्बंधित पूरी जानकारी नहीं होती है इसलिए कुछ लोग इसे इगनोर कर देते है और बहुत से लोग इसके बारे में जानना चाहते है।

तो अगर आप भी उन लोगो में से है जो NRI के बारे में जानना चाहते है तो इस पोस्ट को अंत तक अच्छे से जरूर पढ़े क्योकि इस पोस्ट में आपको NRI से सम्बंधित पूरी जानकारी मिलने वाली है।

NRI क्या होता है

दोस्तों आपके आस पास के क्षेत्र में या आपकी फैमिली में भी कोई व्यक्ति ऐसा होगा जो अपने बिज़नेस या नौकरी के लिए किसी दूसरे देश में गया होगा और अब वही बस गया हो तो वह NRI कहलाता है।

full form of NRI in Hindi - अप्रवासी भारतीय (Non Resident Indians) 

ऐसा व्यक्ति जो भारत का नागरिक है और किसी जॉब या बिज़नेस के सिलसिले में विदेश में जाता है और वही बस जाता है और अगर वह भारत में एक साल में 182 दिन से कम रहता है तो वह NRI कहलायेगा। बहुत से भारतीय ऐसे है जो किसी काम के सिलसिले में विदेश गए थे और अब वही बस गए है।

बहुत से लोगो ने तो विदेशो में भी वहा की नागरिकता प्राप्त कर ली है और अब वहा पर भारतीय संस्कृति को बढ़ा रहे है। यह लोग विदेशो में रहकर भी भारतीय संस्कृति को बढ़ावा देते है और विश्व भर में भारतीय संस्कृति को फैला रहे है।

NRI का फुल फॉर्म क्या होता है

अब अगर बात करे NRI की फुल फॉर्म या NRI Full Form in Hindi की तो NRI का पूरा नाम Non-resident Indian और हिंदी में अप्रवासी भारतीय होता है।

NRI का अर्थ - NRI का अर्थ Non Resident Indian होता है जिसे हिंदी में समझे तो वह भारतीय लोग जो भारत में जन्म लेकर विदेशो में रह रहे होते है और वहां की नागरिकता प्राप्त कर लेते है उन्हें NRI या अप्रवासी भारतीय कहते है। 

NRI शब्द का प्रयोग उन लोगो के लिए भी किया जाता है जिनके माता पिता भारतीय है लेकिन उनका जन्म विदेश में हुआ है और जिन्होंने विदेशी नागरिकता प्राप्त कर ली है।

NRI क्यों बनता है : NRI बनने का कारण

अब हम बात करेंगे की आखिर कोई व्यक्ति NRI किस कारण से बनता है या NRI बनने के कारण क्या है?

  • व्यावसायिक उद्देश्य हेतु।
  • शिक्षा प्राप्त करने के लिए।
  • नौकरी और रोजगार के लिए।
  • किसी भी बीमारी के उपचार हेतु।
  • किसी स्किल के प्रशिक्षण हेतु।

इस प्रकार किसी भी व्यक्ति के NRI बनने के यह कुछ मुख्य कारण हो सकते है।

NRI के लिए आधार कार्ड की अनिवार्यता

अगर कोई भारतीय विदेश में रह रहा है तो उसको आधार कार्ड बनवाना जरुरी है। वैसे आधार कार्ड का नागरिकता से कोई भी सम्बंद नहीं है लेकिन फिर भी यदि किसी NRI को भारत आने का काम पड़ जाता है तो भारत में बहुत से कामो के लिए आधार कार्ड अनिवार्य हो गया है।

इसलिए NRI को भी आधार कार्ड बनवाना आवश्यक है और आधार कार्ड बनवाने के लिए उसे भारत आकर ही आधार कार्ड बनवाना होगा।

NRI Taxation क्या है

किसी भी NRI(Non Resident Indians) को फेमा के अंतर्गत टैक्स में छूट प्रदान की जाती है यानि की उसे केवल भारत में प्राप्त आय का ही भारत में टेक्स देना होता है। विदेश से मिल रहे वेतन का टेक्स आपको भारत में देने की जरुरत नहीं होती हैं।

NRI Status क्या है

इनकम टैक्स विभाग द्वारा NRI Status प्रदान किया जाता है जो भारत में रहने के समय के अनुसार तय या प्रदान किया जाता है। NRI Status यह दर्शाता है की वह व्यक्ति विदेश में किस उद्देश्य से रह रहा है और अगर वह व्यक्ति भारत में 182 दिन से ज्यादा रहता है तो वह Resident कहलाता है।

तो दोस्तों अब आपको NRI (Non-resident Indians) से सम्बंधित पूरी जानकारी प्राप्त हो गयी होगी और आशा है आपको हमारी यह पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी।

अगर आपको हमारी यह पोस्ट NRI क्या होता है पसंद आयी है तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया के माध्यम से शेयर जरूर करे। साथ ही साथ अपने किसी भी Doubts के लिए हमे कमेंट करके जरूर बताये।

Related Articles:-

नमस्कार, दोस्तों मैं Techgyanhindi.com पर Content लिखता हूँ। आपको हमारा Content पसंद आ रहा हो तो Comment करके जरूर बताएं।

Leave a Comment