साल का सबसे बड़ा दिन कौनसा होता हैं? जानें विस्तार से

दोस्तों वैसे तो एक दिन-रात में 24 घंटे होते हैं लेकिन पुरे साल में कई सारे दिन लम्बे तथा राते छोटी या फिर रात लम्बी और दिन छोटे होते हैं ऐसे में हमारे दिमाग में एक सवाल आता हैं की आखिर पुरे साल का सबसे बड़ा दिन कौनसा हैं मतलब किस दिन सूर्य की किरणें सबसे ज्यादा समय तक धरती पर पड़ती हैं।

और पुरे साल का सबसे छोटा दिन कौनसा हैं इसके अलावा साल की सबसे बड़ी रात कौनसी हैं और साल की सबसे छोटी रात कौनसी हैं आदि।

यदि आपके दिमाग में भी यह सवाल आ रहे हैं तो आपको इसका जवाब इस आर्टिकल में मिलने वाला हैं। यहाँ आपको साल का सबसे बड़ा दिन कब होता हैं और दिन और राते छोटी और बड़ी क्यों होती हैं मतलब इनमें फर्क क्यों होता हैं इसके बारे में बताने वाले हैं।

इसलिए पोस्ट को पूरी अंत तक जरूर पढ़े। तो चलिए सबसे पहले हम साल का सबसे लम्बा दिन कब होता है इसके बारे में विस्तार से जान लेते हैं।

साल का सबसे बड़ा दिन कौनसा होता हैं

दोस्तों जैसा की हम सब जानते हैं की साल में कुल 365 दिन-रात होते हैं उनमें से कई बार दिन बड़े होते है तो कई बार राते, इसी प्रकार अगर हम सबसे बड़े दिन की बात करें तो वह 21 जून हैं। 21 जून को सूर्य की किरणे पृथ्वी पर सबसे ज्यादा देर तक पड़ती हैं।

इस दिन सूर्य की किरणे पृथ्वी पर 15 से 16 घंटे तक रहती हैं। जिससे इस दिन को सबसे बड़ा माना जाता हैं। लेकिन दोस्तों अब आपके दिमाग में सवाल आ रहा होगा की आखिर ऐसा क्यों होता हैं। और

क्यों सूर्य की किरणें 21 जून को पृथ्वी पर इतनी देर तक पड़ती हैं तो दोस्तों अब हम इसके बारे में भी जान लेते है की आखिर हमारी पृथ्वी पर दिन और रातें छोटी और लम्बी होने का क्या कारण हैं।

दिन लम्बे और छोटे क्यों होते हैं

हमारी धरती को भौगोलिक आधार पर मुख्य रूप से भूमध्य रेखा से दो भागों बाटा गया हैं उत्तरी गोलार्द्ध और दक्षिणी गोलार्द्ध, भूमध्य रेखा से उत्तर दिशा के भाग को उत्तरी गोलार्द्ध तथा दक्षिण दिशा के भाग को दक्षिणी गोलार्द्ध के नाम से जाना जाता हैं।

इसी प्रकार पृथ्वी के घूमने के कारण जब सूर्य उत्तरी गोलार्द्ध की और अग्रसर होता हैं तो उत्तरी गोलार्द्ध में दिन लम्बे यानि बड़े होने लग जाते हैं और 21 जून को सूर्य कर्क रेखा पर होने के कारण उत्तरी गोलार्द्ध के सीधे संपर्क में होता हैं जिसके कारण उत्तरी गोलार्द्ध में यह दिन सबसे बड़ा होता हैं।

और 22 मार्च और 23 सितम्बर को दिन और रात बराबर होती हैं। 23 सितंबर के बाद उत्तरी गोलार्द्ध में रातें बड़ी और दिन छोटे होने लग जाते हैं तथा 22 दिसंबर को सबसे बड़ी रात होती हैं। वहीँ अगर हम दक्षिणी गोलार्द्ध में सबसे बड़ा दिन कब होता हैं उसके बारे में जानें तो 22 दिसंबर को ही दक्षिणी गोलार्द्ध में सबसे बड़ा दिन होता हैं।

तो दोस्तों अब तक आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा की आखिर ये दिन और रातों में इतना फर्क क्यों होता हैं। और किस गोलार्ध में कौनसा दिन बड़ा होता हैं और कौनसा दिन छोटा होता हैं।

Note:- कभी- कभी 22 जून सबसे बड़ा होता हैं , आखिरी बार 1975 में यह दिन सबसे बड़ा था और अगली बार 2203 में ऐसा होगा।

पृथ्वी पर सबसे छोटा दिन कब होता है

दोस्तों यदि आपसे कोई यह प्रश्न करता हैं की पृथ्वी पर सबसे छोटा दिन कौनसा होता हैं तो इसका जवाब यही होगा की पृथ्वी को भौगोलिक आधार पर दो भागों में बाटा गया हैं, जिसके चलते उत्तरी गोलार्द्ध में सबसे छोटा दिन 22 दिसंबर होता हैं तो वहीँ दक्षिणी गोलार्द्ध में सबसे छोटा दिन 21 जून हो होता हैं।

FAQs

दोस्तों चलिए अब साल का सबसे बड़ा दिन कौनसा होता हैं इससे संबधित पूछे जाने वाले सवालों के बारें में जान लेते हैं।

साल का सबसे बड़ा और सबसे छोटा दिन कब होता है?

दोस्तों उत्तरी गोलार्द्ध में साल का सबसे बड़ा दिन 21 जून को होता हैं तथा साल का सबसे छोटा दिन 22 दिसंबर को होता हैं, वहीँ दक्षिणी गोलार्द्ध की बात करें तो 22 दिसंबर सबसे बड़ा दिन होता हैं तथा 21 जून सबसे छोटा दिन होता हैं।

भारत में सबसे छोटा दिन कब होता है?

भारत उत्तरी गोलार्द्ध में हैं जिसकी वजह से भारत में सबसे छोटा दिन 22 December होता हैं।

भारत में सबसे बड़ा दिन कब होता है?

भारत उत्तरी गोलार्द्ध में स्थित हैं और उत्तरी गोलार्द्ध में सबसे बड़ा दिन 21 जून को होता हैं मतलब भारत में भी सबसे बड़ा दिन 21 जून को हैं।

उत्तरी गोलार्ध में सबसे बड़ा दिन कब होता है?

उत्तरी गोलार्द्ध में सबसे बड़ा दिन 21 जून को होता हैं।

सबसे छोटा दिन और सबसे बड़ी रात कब होती है?

दोस्तों उत्तरी गोलार्द्ध में सबसे छोटा दिन 22 December होता हैं और दिन छोटा होने के कारण सबसे बड़ी रात भी इसी दिन होती हैं। वहीँ हम दक्षिणी गोलार्द्ध की बात करें तो इसमें सबसे छोटा दिन 21 जून होता हैं और सबसे बड़ी रात भी इसी दिन होती हैं।

Conclusion

दोस्तों उम्मीद करता हूँ साल का सबसे बड़ा दिन कौनसा होता हैं और साल का सबसे छोटा दिन कौनसा होता हैं इनके बारे में आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा, यदि फिर भी आपके मन में कोई शंका हैं तो आप हमें Comment करके बता सकते हैं आपकी पूरी सहायता की जाएगी।

और हमारे इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें जिससे वे भी साल के सबसे छोटे और बड़े दिन के बारे में जान सके तथा दिन और रात, छोटे और बड़े क्यों होते हैं इसके बारे में भी विस्तार से जान सके।

Read More Articles:-
Captcha Code क्या हैं और कितने प्रकार के होते है
FootBall खेल के नियम और इसका इतिहास
असली और नकली सोने की पहचान कैसे करें
भारत की सबसे पहली फिल्म कौनसी थी
पोस्ट को शेयर करें

मेरा नाम Ram Gadri है। मैं इस Blog का Founder और Content writer हूँ। हमारा इस Blog को बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषी लोगों को इंटरनेट से जुड़ी जानकारी प्रदान करवाना है। यहाँ आपको शिक्षा, तकनिकी, कंप्यूटर और मेक मनी से जुड़ी हर तरह की जानकारी अपनी मातृ भाषा में मिलने वाली है।

Leave a Comment