SDM कौन होता हैं और SDM Full Form in Hindi~ 2021

इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं SDM full form in Hindi के साथ-साथ SDM कौन होता हैं से लेकर SDM बनने तक की पूरी प्रोसेस के बारे में विस्तार से।

दोस्तों आप में से बहुत से ऐसे विद्यार्थी होंगे जो किसी न किसी कॉम्पिटिशन एग्जाम की तैयारी कर रहे होंगे और आजकल हर कोई चाहता हैं की उसे कोई सम्मानजनक नौकरी मिले।

अब आपमें से बहुत से लोग SDM भी बनना चाहते होंगे तो यह पोस्ट ऐसे लोगो के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाली हैं क्योकि इस पोस्ट में हम SDM का फुल फॉर्म इन हिंदी के साथ साथ SDM बनने के लिए योग्यता एग्जाम की पूरी जानकारी विस्तार से देने वाले हैं।

इसलिए आपको पोस्ट को अच्छे से और ध्यानपूर्वक शुरू से अंत तक पूरा पढ़ना हैं जिससे आपको पूरी पोस्ट अच्छे से समझ आ सके और आपको इस विषय की पूरी जानकारी विस्तार से मिल सके।

SDM क्या है? (Who is SDM in Hindi)

अब अगर बात करे की SDM कौन होता हैं तो आपको बता दे SDM एक सरकारी अधिकारी होता हैं जो किसी जिले के उपखण्ड का नेतृत्व करता हैं। आपको यह तो पता ही होगा की राज्य के हर जिले को अलग-अलग उपखंडो में बांटा गया हैं और प्रत्येक उपखण्ड का नेतृत्व करने का हक़ SDM के पास होता हैं।

हर उपखण्ड (Subdivision) में उसके आकार के आधार पर अलग-अलग तहसील होती हैं और SDM का अपने उपखण्ड के तहसीलदारों पर डायरेक्ट नियंत्रण होता हैं और यह अपने उपखण्ड में होने वाली सभी गतिविधियों पर नियंत्रण रखता हैं।

SDM full form in Hindi

अब अगर बात करे SDM का फुल फॉर्म इन हिंदी के बारे में तो SDM का हिंदी में पूरा नाम उप प्रभागीय न्यायाधीश होता हैं।

  • SDM – SUB DIVISIONAL MAGISTRATE
  • एसडीएम – उप प्रभागीय न्यायाधीश

इस प्रकार आप यहाँ पर SDM का हिंदी में और SDM फुल फॉर्म इन इंग्लिश दोनों के बारे में जान सकते हैं।

SDM के कार्य क्या-क्या होते हैं

चलिए अब हम बात कर लेते हैं SDM के कार्य के बारे में की SDM को क्या-क्या काम करना होता हैं

  1. प्रशासनिक और न्यायिक कार्य
  2. चुनाव सम्बंधित कार्य
  3. भूमि का लेखा जोखा रखना
  4. जमीन और व्यापार पर नजर रखना
  5. विभिन्न तरह पंजीयन करवाने का कार्य
  6. सार्वजानिक भूमि के सरंक्षण की जिम्मेदारी
  7. राजस्व मामलो का संचालन करना
  8. क्षेत्रीय विवादों का निपटारा करना
  9. आपदा प्रबंधन का कार्य
  10. जन्म, मूल निवास या जाति निवास प्रमाण पत्र का पंजीयन करना।

इस प्रकार आप समझ सकते हैं की एक SDM के ऊपर अपने उपखण्ड की कितनी जिम्मेदारी और कितने सारे अलग अलग तरह के काम होते हैं।

SDM कैसे बने (How to become SDM in Hindi)

चलिए अब हम SDM बनने का पूरा प्रोसेस जान लेते हैं तो यहाँ पर आपकी जानकारी के लिए बता दे आप SDM दो तरीको से बन सकते हैं तो चलिए जानते हैं वह दोनों तरीके कौनसे से हैं।

SDM बनने का पहला तरीका

अगर बात करे SDM बनने के पहले तरीके के बारे में तो इसके लिए आपको पहले अपनी उच्च माध्यमिक पढ़ाई पूरी करने के बाद किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन पास होना आवश्यक है।

उसके बाद छात्र राज्य स्तर की सिविल सेवा परीक्षा (State PCS Exam) के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

SDM बनने के लिए परीक्षा पैटर्न

अब अगर बात करे SDM बनने के लिए परीक्षा पैटर्न की तो SDM बनने के लिए आपको स्टेट PCS एग्जाम देना होता हैं इसे तीन भागो में विभाजित किया गया हैं यानि की परीक्षा आपको तीन चरणों में पूरी करनी होती हैं और अगर आप तीनो चरणों को क्लियर कर देते हैं तो आप SDM बनने के काबिल हो जाते हैं।

  1. प्रारंभिक परीक्षा – सबसे पहले आपको प्रारंभिक परीक्षा देनी होती हैं और अगर आप इस परीक्षा में पास हो जाते हैं तो आप मुख्य परीक्षा दे सकते हैं।
  2. मुख्य परीक्षा – मुख्य परीक्षा को क्लियर करने पर आपको इंटरव्यू यानि की साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता हैं।
  3. साक्षात्कार(Interview) – अगर आप इस चरण में भी पास हो जाते हैं यानि की आप इंटरव्यू भी क्लियर कर लेते हैं तो उसके बाद आप SDM के रूप में चयनित हो जाते हैं और SDM का सेवाभार सँभालने के काबिल बन जाते हैं।

इस प्रकार अगर आप इन तीनो चरणों को पूरा करने के बाद ही SDM के पद को प्राप्त कर सकते हैं और इसके लिए आपको अच्छी मेहनत करनी होगी तभी आप इस पद को प्राप्त कर सकते हैं।

SDM बनने का दूसरा तरीका

SDM बनने का दूसरा तरीका होता हैं UPSC की परीक्षा क्लियर करके। यानि की आप किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद UPSC Exam की तैयारी कर सकते हैं और UPSC Exam के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

उसके बाद अगर आप UPSC क्लियर कर देते हैं तो आप SDM बनने के काबिल हो जाते हैं और SDM का पद प्राप्त कर सकते हैं लेकिन इसमें भी आपको कड़ी मेहनत करनी होगी तभी आप इस परीक्षा को क्लियर कर सकते हैं।

अब चलो यह तो हो गए SDM बनने के तरीके लेकिन आप SDM तभी बन पाएंगे जब आप इस पद के लिए योग्य होंगे तो चलो जान लेते हैं की SDM बनने के लिए क्या-क्या योग्यता होनी चाहिए। साथ ही साथ आशा हैं आपको हमारी अब तक की जानकारी पसंद आयी होगी।

SDM बनने के लिए योग्यता

SDM बनने के लिए आपके पास निचे बताई सभी योग्यता होनी चाहिए।

  • उम्मीदवार भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • उम्मीदवार की आयु कम से कम 21 वर्ष होनी चाहिए।
  • अधिकतम आयु जनरल व OBC के लिए 40 वर्ष निर्धारित हैं।
  • इसके अलावा SC/St के लिए अधिकतम आयुसीमा 50 वर्ष निर्धारित हैं और PWD के लिए 55 वर्ष।
  • उम्मीदवार किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएट होना चाहिए।
  • अगर आप ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष में हैं तो भी SDM की PCS परीक्षा के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

इस प्रकार आपको SDM बनने के लिए इन सभी योग्यता सीमा को पूरा करना आवश्यक हैं यानि की आपके पास ऊपर बताई सभी योग्यता हैं तो आप भी PCS एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते हैं और SDM बनने का अवसर प्राप्त कर सकते हैं।

SDM की सैलरी कितनी होती हैं?

अब अगर बात करे SDM के सैलरी की तो चूकी यह एक उच्च रैंक का सरकारी पद होता हैं इसलिए इन्हे सैलरी भी काफी अच्छी दी जाती हैं।

SDM को सैलरी उनके लेवल के हिसाब से दी जाती हैं जोकि 50 हजार रूपए महीना से शुरू हो कर 1 लाख रूपए महीना तक हो सकती हैं। लेकिन यह सब आपके अनुभव पर निर्भर करता हैं।

अगर आप नए-नए SDM के पद पर आये हैं तो आपको शुरुआत में कम सैलरी दी जाती हैं लेकिन धीरे-धीरे जब आप सीनियर बन जाते हैं तो आपकी सैलरी भी बढ़ जाती हैं।

तो दोस्तों आशा करते हैं की आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आयी होगी और अब आपको SDM बनने से लेकर सैलरी तक की पूरी जानकारी अच्छे से प्राप्त हो गयी होगी।

अगर आपको हमारी यह पोस्ट SDM full form in Hindi पसंद आयी हैं तो इसे अपने ज्यादा से ज्यादा दोस्तों के साथ सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से शेयर जरूर करे ताकि अगर आपका कोई दोस्त भी SDM बनने का सोच रहा हो तो उसके यह जानकारी काम आ सके। अंत में हमे कमेंन्ट करके जरूर बताये आपको यह पोस्ट कैसी लगी।

Related Articles:-

नमस्कार, दोस्तों मैं Techgyanhindi.com पर Content लिखता हूँ। आपको हमारा Content पसंद आ रहा हो तो Comment करके जरूर बताएं।

Leave a Comment