टेलीविज़न का अविष्कार किसने किया और कब किया 2021

दोस्तों टेलीविज़न जो वर्तमान में हमें लगभग हर घर में देखने को मिल जाता हैं लेकिन क्या आपको पता हैं टेलीविज़न का अविष्कार किसने किया? आप में से बहुतो का जवाब होगा नहीं।

और होगा भी तो कैसे क्योकि इसी सवाल के जवाब के लिए तो आप इस पोस्ट पर आये हैं और आप बिलकुल सही पोस्ट पर भी आये हैं क्योकि इस पोस्ट में हम आपको टेलीविज़न के अविष्कार की पूरी जानकारी देने वाले हैं।

इसलिए आपको इस पोस्ट को शुरू से अंत तक पुरे ध्यानपूर्वक पढ़ना हैं जिससे आपको सारी जानकारी अच्छे से समझ आ सके और पोस्ट के अंत तक आपको टेलीविज़न सम्बंधित और भी रोचक जानकारी जानने का मौका मिलेगा इसलिए पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े।

Television क्या हैं?

टेलीविज़न का अविष्कार किसने किया
टेलीविज़न का अविष्कार कब हुआ
Television क्या हैं
Tv का अविष्कार किसने किया
टेलीविज़न को हिंदी में क्या कहते हैं

टेलीविज़न एक ऐसा यंत्र हैं जिसके माध्यम से हम चलचित्रो को आवाज के साथ देख सकते हैं और यह तकनिकी रेडियो और सेटेलाइट की तकनीक पर आधारित हैं।

अगर सामान्य शब्दों में समझे तो हम टेलीविज़न को एक ऐसे उपकरण के रूप में जानते हैं जिसके माध्यम से हम घर बैठे विभिन्न चैनल्स के माध्यम से अलग-अलग तरह के प्रोग्राम जैसे शिक्षा, धारावाहिक, फिल्म, समाचार आदि देख सकते हैं और इसको मनोरंजन के एक साधन के रूप में देखा जाता हैं।

सबसे पहले जब रेडियो का अविष्कार हुआ तो उसके बाद चर्चा होने लगी की भविष्य में ध्वनि के साथ तस्वीरों को भी देखा जा सकेगा। और उनकी यह कल्पना एक दिन सही साबित हो गयी जब टेलीविज़न का अविष्कार हुआ।

शुरुआत में जब टेलीविज़न का अविष्कार हुआ तो चर्चा होने लगी की अब सिनेमा पूरी तरह बंद हो जायेगा लेकिन आप देख सकते हैं वर्तमान में भी सिनेमा में फिल्मे अरबो रुपयों की कमाई कर रही हैं लेकिन टेलीविज़न का यही फायदा हुआ की इसने घर-घर में सिनेमा पंहुचा दिया।

टेलीविज़न को हिंदी में क्या कहते हैं?

Television in Hindi या टेलीविज़न को हिंदी में दूरदर्शन कहते हैं। इसके पीछे का एक कारण यह हैं की यह हमे किसी भी दूर की वस्तु या व्यक्ति को गति करते हुए दिखाता हैं।

वास्तव में हम टेलीविज़न में जो देखते हैं वह तस्वीरें होती हैं जिन्हे इतनी तेजी से बदला जाता हैं की वह हमे गति करती हुई प्रतीत होती हैं।

और आज के समय में आधुनिक समय में तस्वीरों को चलचित्र या वीडियो में बदलना बहुत ही आसान होगा हैं और इसे हर कोई अपने मोबाइल से भी कर सकता हैं।

टेलीविज़न का अविष्कार किसने किया

टेलीविज़न को शार्ट में Tv कहाँ जाता हैं तो चलिए जानते हैं की आखिर Tv का अविष्कार किसने किया जो आज इतना उपयोगी और लोकप्रिय साधन हैं।

वैसे तो टेलीविज़न के अविष्कार में बहुत से वैज्ञानिको का योगदान रहा हैं और साल दर साल हमे बहुत सारे अलग अलग रूपों में टेलीविज़न का विस्तार देखने को मिला हैं।

अभी हम जो कलरफुल टेलीविज़न देखते हैं और भी बहुत तरह के अलग अलग टेलीविज़न जैसे LCD और LED देखने को मिलते हैं जो काफी पतले भी होते हैं लेकिन पहले जब शुरुआत में टेलीविज़न का अविष्कार हुआ था तब ऐसे टेलीविज़न बिलकुल नहीं थे।

उस समय ब्लेक एंड वाइट टेलीविज़न होते थे जिनका स्क्रीन बहुत छोटा होता था और एक लकड़ी के बड़े बक्से से बने होते थे और इस प्रकार आप टेलीविज़न के अविष्कार के कई तरह के बदलाव देख सकते हैं।

अगर बात करे टेलीविज़न का अविष्कार की तो सबसे पहले मेकेनिकल टेलीविज़न का अविष्कार जाॅन लाॅगी बेयर्ड (John Logie Baird) ने किया था। यह एक स्कॉटिश इंजीनियर थे।

जॉन ने अपने इस अविष्कार का नाम The Televisor रखा था और इन्होने टेलीविज़न पर लोगो को कठपुतली की छवि को प्रसारित करके बताया था और जॉन ने इस कटपुतली का नाम स्टिकी बिल रखा था।

इसी से प्रेरित होकर Philo Taylor Farnsworth( फिलो टेलर फा‌र्न्सवर्थ) ने इलेक्ट्रॉनिक टेलीविज़न की कल्पना को अविष्कार में परिवर्तित कर दिया। और यह अविष्कार उन्होंने महज 21 साल की उम्र में किया था।

वह एक ऐसे यंत्र का निर्माण करना चाहते थे जो हिलती हुई तस्वीरों को कैप्चर करके उन्हें एक कोड में बदल सके और उन्हें रेडियो तकनिकी का उपयोग करते हुए दूसरे डिवाइस में ट्रांसफर किया जा सके। Philo Taylor Farnsworth को ही इलेक्ट्रॉनिक टेलीविज़न का आविष्कारक कहाँ जाता हैं।

इलेक्ट्रॉनिक टेलीविज़न के बाद धीरे धीरे टेलीविज़न के क्षेत्र में बहुत से और भी बदलाव होने लगे और उन्ही बदलावों के बीच कलर टेलीविज़न का अविष्कार हुआ।

पहला कलर टेलीविज़न John Logie Baird(जाॅन लाॅगी बेयर्ड) ने 1928 में किया था।

टेलीविज़न का अविष्कार कब हुआ

अब अगर बात करे की टेलीविज़न या Tv का अविष्कार कब हुआ तो इसकी कल्पना तो रेडियो के अविष्कार के बाद से ही हो गयी थी और बहुत से वैज्ञानिको की कल्पना थी की अगर बहुत से तस्वीरों को एक कोड में बनाया जाये और उन्हें तेजी से बदली जाये तो वह चलचित्र जैसे दिखेगी।

लेकिन सभी के लिए यही समस्या थी की इसे स्क्रीन में कैसे उतारा जाये और फिर एक दिन इस समस्या का भी हल मिल गया और वह दिन था 25 मार्च 1925 का जिस दिन John Logie Baird ने पहले मेकेनिकल टेलीविज़न का अविष्कार कर दिखाया था।

उसके बाद इससे प्रेरणा लेकर 7 सितम्बर 1927 के दिन Philo Taylor Farnsworth (फिलो टेलर फा‌र्न्सवर्थ) ने पहले इलेक्ट्रॉनिक टेलीविज़न का अविष्कार किया था।

टेलीविज़न के प्रकार

टेलीविज़न के अविष्कार से लेकर वर्तमान समय तक टेलीविज़न के क्षेत्र में बहुत से परिवर्तन देखने की मिले हैं और इन परिवर्तनों के पीछे बहुत से वैज्ञानिको का हाथ हैं।

आज हम टेलीविज़न के बहुत से प्रकार देख सकते हैं तो चलिए टेलेविज़न के प्रकारो पर एक नजर डालते हैं।

  • CRT(Cathode Ray Tube)
  • Plasma Display Panel
  • Digital Light Processing(DLP)
  • Liquid Crystal Display(LCD)
  • Light Emitting Diode(LED)
  • Organic Light Emitting Diode(OLED)
  • Quantum Light Emitting Diode(QLED)

इस प्रकार यह सब टेलीविज़न के अलग अलग प्रकार हैं।

पहला Electronic Television का अविष्कार किसने किया?

पहले Electronic Television का अविष्कार Philo Taylor Farnsworth ने 7 सितम्बर 1927 को किया था।

पहला मेकेनिकल टेलीविज़न का अविष्कार किसने किया?

पहले मेकेनिकल टेलीविज़न का अविष्कार 25 मार्च 1925 को जाॅन लाॅगी बेयर्ड ने किया था।

भारत में टेलीविज़न का प्रसारण कब प्रारम्भ हुआ?

भारत में टेलीविज़न के प्रसारण की शुरुआत 15 सितम्बर 1959 को दिल्ली शहर से All India Radio की निगरानी में हुआ था।

तो दोस्तों आशा करते हैं आपको हमारी यह पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी और आपको टेलीविज़न के अविष्कार से सम्बंधित सभी सवालों का जवाब मिल गया होगा और आपके लिए यह पोस्ट हेल्पफुल साबित हुई होगी।

अगर आपको हमारी यह पोस्ट टेलीविज़न का अविष्कार किसने किया पसंद आयी हैं तो इसे अपने सोशल मीडिया मित्रो के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करे और अगर आपको इस पोस्ट के संदर्भ में कोई भी Doubts हैं तो हमे कमेंट करके जरूर बताये।

नमस्कार, दोस्तों मैं Techgyanhindi.com पर Content लिखता हूँ। आपको हमारा Content पसंद आ रहा हो तो Comment करके जरूर बताएं।

2 thoughts on “टेलीविज़न का अविष्कार किसने किया और कब किया 2021”

  1. Your all post here are very informative and knowledgble. I hope you u will keep writing such post in future.
    I also write on such stuf on my website your readers would love it

    Reply

Leave a Comment