What is Ram in Hindi- RAM क्या है? इसके कार्य और प्रकार।

What is Ram in hindi– दोस्तों जब भी हम कोई नया कंप्यूटर या मोबाइल खरीदते है। तो दुकानदार से हमारा पहला सवाल यही होता है की इसमें Ram कितना GB है?

और पूछना भी चाहिए क्योंकि यह हमारे मोबाइल का एक महत्वपूर्ण पार्ट होता है। जिसपर मोबाइल और कंप्यूटर की स्पीड और परफॉरमेंस निर्भर करती है?

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है आखिर Ram क्या है? (What is Ram in Hindi) और यह कैसे हमारे मोबाइल की स्पीड बढ़ाता है।

Ram के बारे में नॉर्मली तो सब कहते है की मोबाइल की Ram खाली रखने से मोबाइल फ़ास्ट चलता है और हैंग भी नहीं होता है।

लेकिन आपने कभी सोचा है की आखिर Ram हमारे मोबाइल की स्पीड कैसे बढ़ाता है? और क्यों रैम खाली रखने से मोबाइल हैंग नहीं होता है?

तो आज की पोस्ट में हम रैम क्या है? (What is Ram in hindi), Ram Ka Full Form क्या होता है? Ram के प्रकार और ये कैसे काम करती है? आदि के

बारे में जानने वाले है। Ram एक मेमोरी है। तो सबसे पहले हम ये जान लेते है की Memory क्या होती है?

मेमोरी क्या है और कितने प्रकार की होती है?

कंप्यूटर मेमोरी Computer का वह भाग है। जहाँ हम Data और Instruction को Store करके रख सकते है। अर्थात Memory सुचना स्टोरेज की सुविधा प्रदान करती है।

अगर कंप्यूटर में मेमोरी नहीं होगी तो हम Computer में किसी भी डाटा को सेव करके नहीं रख पाएंगे।

जैसे हमे किसी भी चीज को याद रखने के लिए दिमाग की जरुरत पढ़ती है। वैसे ही कंप्यूटर को भी डाटा को सेव करने के लिए मेमोरी की जरुरत पड़ती है।

कंप्यूटर मेमोरी छोटे-छोटे भागो में बंटी रहती है। जिन्हे हम Cell कहते है। और प्रत्येक Cell का अलग-अलग Cell Address होता है। जहाँ Data बाइनरी नंबर (0-1) में स्टोर रहता है।

Computer Memory मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है प्राथमिक मेमोरी (Primary Memory) और द्वितीयक मेमोरी (Secondary Memory)।

प्राथमिक मेमोरी क्या है और कितने प्रकार की होती है?

यह Computer की Main Memory होती है। प्राइमरी मेमोरी कंप्यूटर के सीपीयू (Central Processing Unit) का ही भाग होती है। इसलिए इसे आंतरिक मेमोरी या Internal Memory भी कहा जाता है।

यह मेमोरी किसी समय चल रहे Program या उनके Input और Output data को कुछ समय के लिए स्टोर करके रखती। Computer का Power Off करने या बिजली सप्लाई बंद होने पर इसमें स्टोर सारा डाटा Delete हो जाता है।

सीधी भाषा में कहा जाये तो यह Memory Data को सिर्फ तभी Store करके रखती है जब कंप्यूटर Running स्थिति में हो।

इस मेमोरी की साइज छोटी होती है। लेकिन इसकी स्पीड बहुत तेज होती है। ताकि जब भी जरुरत पढ़े कंप्यूटर से तुरंत डाटा लिया जा सके। प्राथमि मेमोरी मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है RAM और ROM.

Ram क्या है? (What is Ram in Hindi)

Ram का फुल फॉर्म Random Access Memory होता है। यह मेमोरी एक चिप की तरह होती है जो (MOS) मेटल ऑक्साइड सेमीकंडक्टर से बनी होती है।

यह एक Volatile Memory है। इसमें स्टोर डाटा अस्थाई होता है। अर्थात PC को Power Of यानि Shut Down करने पर। इसमें स्टोर सारा डाटा नष्ट हो जाता है।

यह कंप्यूटर और मोबाइल में कम साइज की होती है। जैसे 2GB,3GB, 4GB, 6GB या 8GB तक होती है।

जब हम अपने Computer में किसी Programm को Run करते है। तो Program Cpu के द्वारा Computer Memory से Ram के अंदर Run किया जाता है। अर्थात हम अपने कंप्यूटर पर जो भी काम करते है। उसके रैम का उपयोग होता है।

Ram कितने प्रकार की होती है?

अब Ram के प्रकारो की बात करे (Types of Ram in Hindi) तो आमतौर पर Ram दो प्रकार की होती है। SRAM और DRAM.

SRAM (स्टैटिक रैम)

SRAM का पूरा नाम (Static Random Access Memory) होता है। इसे बार-बार रिफ्रेश करने की जरुरत नहीं पढ़ती है। इसमें डाटा तब तक Store रहता है। जब तक Computer का Power On रहेगा।

ये डाटा को बहुत ही तेजी के साथ access करती है। इस एक अन्य नाम Cash Memory से भी जाना जाता है। यह मेमोरी DRAM की तुलना में काफी महंगी होती है। और DRAM की तुलना में ज्यादा हीट पैदा करती है।

DRAM (डायनामिक रैम)

DRAM का फुल फॉर्म (Dynamic Random Access Memory) होता है। यह SRAM की तुलना में सस्ती होती है।

इसे बार-बार रिफ्रेश करने की जरुरत पढ़ती है। क्योंकि इसकी स्पीड काफी Slow होती है। और ये SRAM की तुलना में सस्ती भी होती है। और ये कम गर्म होती है।

अधिकतर Computerऔर Mobile में इसी RAM का उपयोग किया जाता है। वोलेटाइल मेमोरी होने के कारण इसमें भी डाटा पावर चालू रहने तक ही रहता है।

Ram कैसे काम करती है?

ये सवाल तो आपके दिमाग में भी जरूर आया होगा की आखिर ये रैम काम कैसे करती है? और इससे हमारे मोबाइल या कंप्यूटर की परफॉरमेंस पर पर क्या फर्क पड़ता है। तो चलिए रैम के कार्य के बारे में जान लेते है।

जब भी आप अपने कंप्यूटर या मोबाइल पर कोई गेम खेलते है या किसी Software या Application को Open करते है। या कोई Movie देखते है।

तो आपके Mobile को अलग से Space की जरुरत पढ़ती है। जहा ये सब काम हो सके।

जैसे आप अपने मोबाइल में कोई Game खेलते हो तो Game पहले से Memory में सेव रहता है। उसे CPU Ram में ले आता है। और फिर गेम प्ले होता है तब तक रैम में स्टोर रहता है।

आपने कई बार देखा होगा की आप जब अपने मोबाइल में एक साथ कई सारे Application ओपन कर लेते है। और बाद में मोबाइल को लॉक करने पर सारी एप्लीकेशन Close हो जाती है।

ऐसा रैम Volatile Memory होने के कारण होता है।

जब आपके सिस्टम की रैम ज्यादा होगी तो सीपीयू पर ज्यादा लोड नहीं पड़ेगा। इससे आपके सिस्टम की स्पीड फ़ास्ट रहेगी।

Ram कितनी होनी चाहिए

अब तक आप What is Ram in Hindi और Types of Ram in Hindi और Ram का मतलब क्या होता है? ये तो समझ ही गए होंगे अब हम जान लेते है। की हमारे मोबाइल या Computer में कितनी Ram होनी जरुरी है।

दोस्तों मोबाइल का Ram कितनी होनी चाहिए ये आपको खुदको तय करना होगा। की आपको मोबाइल किस काम के लिए लेना है।

अगर आपको Gaming के लिए या फिर ज्यादा बढे सॉफ्टवेयर Run करने की जरुरत पड़ती है। तो आपको ज्यादा Ram की जरुरत पड़ेगी।

वही अगर आपको मोबाइल या लैपटॉप नार्मल काम जैसे ब्राउज़िंग, Presentation या इंटरनेट के लिए लेने है। तो आपका काम कम रैम से भी चल जायेगा।

जैसे जितनी आपके कंप्यूटर की रैम ज्यादा होगी उतनी ही आप अपने सिस्टम पर मल्टीटास्किंग कर पाओगे और सिस्टम की स्पीड भी फ़ास्ट होगी।

इसमें मेरी राय पूछी जाये तो मैं आपसे कहूंगा कम से कम 4GB Ram तो होनी ही चाहिए। क्योंकि कुछ Ram तो इसमें पहले से आये सिस्टम App कवर कर लेते है। और

आजकल Application और सॉफ्टवेयर भी ज्यादा बड़ी साइज में होते है। और अगर आपको फ़ास्ट परफॉरमेंस से ज्यादा लगाव है तो। आप 6GB या 8GB वाला सिस्टम भी ले सकते है।

दोस्तों मुझे पूरी उम्मीद है की आपको Ram क्या है? (What is Ram in Hindi), Ram Ka Full Form और Ram के प्रकार आदि के बारे में पूरी जानकारी मिल चुकी होगी।

अगर फिर आपके मन में कोई Doubt रहता है तो आप हमे कमेंट करके जरूर बताये। और रैम के बारे में ये सामान्य जानकारी सभी को होना जरुरी है।

इसलिए इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तों के साथ शेयर करे। ताकि उन्हें भी रोज उपयोग करने वाले फ़ोन की रैम के बारे में जानकारी मिल सके।

what is Ram in hindi

Ram से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल

Q.1  Ram का Full Form क्या है?
Ans.  Random Access Memory
Q.2  Ram किस प्रकार की मेमोरी है?
Ans. रैम Volatile Memory है। 

Q.3 रैम किस मटेरियल की बनी होती है?
Ans. मैटल ऑक्साइड सेमीकण्डक्टर

Q.4  रैम कितने प्रकार की होती है?
Ans. दो प्रकार की 1.SRAM और 2.DRAM 
Q.5  Ram कंप्यूटर के किस भाग में लगती है? 
Ans. Ram Computer के Motherboard में लगती है।
Q.6 Ram की खोज कब और किसने की?
Ans. Ram की खोज 1968 में रॉबर्ट डेनार्ड (Robert Dennard) ने की। 

मेरा नाम Ram Gadri है। मैं इस Blog का Founder और Content writer हूँ। हमारा इस Blog को बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषी लोगों को इंटरनेट से जुड़ी जानकारी प्रदान करवाना है। यहाँ आपको शिक्षा, तकनिकी, कंप्यूटर और मेक मनी से जुड़ी हर तरह की जानकारी मिलने वाली है।

2 thoughts on “What is Ram in Hindi- RAM क्या है? इसके कार्य और प्रकार।”

Leave a comment